Twitter

Follow palashbiswaskl on Twitter

Wednesday, July 25, 2012

Fwd: [Jai-Bhim World] अन्नाभाऊ साठे ने 35 ने उपन्‍यास लिखे हैं. उनके...



---------- Forwarded message ----------
From: Ratnesh Kumar <notification+kr4marbae4mn@facebookmail.com>
Date: 2012/7/25
Subject: [Jai-Bhim World] अन्नाभाऊ साठे ने 35 ने उपन्‍यास लिखे हैं. उनके...
To: Jai-Bhim World <jaibhim.world@groups.facebook.com>


अन्नाभाऊ साठे ने 35 ने उपन्‍यास लिखे हैं. उनके...
Ratnesh Kumar 12:08pm Jul 25
अन्नाभाऊ साठे ने 35 ने उपन्‍यास लिखे हैं. उनके उपन्‍यास फकीरा (1959) पर एक फिल्‍म भी बनी थी। अण्‍णाभाऊ साठे के 15 लघुकथा संग्रह प्रकाशित हैं। इसके अलावा एक नाटक, रूस पर यात्रा वृतांत, 12 पटकथाएँ, 10 कथा-गीत (पोवाड़ा) उनके नाम हैं। वे लोकप्रिय पोवाड़ा गायक भी थे।महाराष्‍ट्र एकीकरण आंदोलन में वे सक्रिय रहे। भारत सरकार ने उन पर एक डाक टिकट प्रकाशित किया तथा महाराष्‍ट्र सरकार ने विशेष साहित्‍य सम्‍मान से अलंकृत किया गया। उनके साहित्‍य का 27 भारतीय भाषाओं और अंग्रेजी के अलावा रूसी में भी अनुवाद हुआ है। प्रस्तुत कहानी उनकी प्रसिद्द कृति 'श्मशानातील सोन्ने' का हिंदी अनुवाद है.
http://www.neelkranti.com/2012
NeelKranti.com » Blog Archive » श्‍मशान का सोना: लोकशाहिर अण्‍णाभाऊ साठे की एक प्रसिद्ध कहानी
www.neelkranti.com
लोकशाहिर के नाम से पहचाने जाने वाले लब्‍ध प्रतिष्ठित मराठी लेखक अण्‍णाभाऊ साठे का जन्‍म सांगली जिले ...

View Post on Facebook · Edit Email Settings · Reply to this email to add a comment.

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Welcome

Website counter

Followers

Blog Archive

Contributors