Twitter

Follow palashbiswaskl on Twitter

Wednesday, July 31, 2013

तेलंगाना फैसला : रायलसीमा और आंध्र प्रदेश में बंद

तेलंगाना फैसला : रायलसीमा और आंध्र प्रदेश में बंद

Wednesday, 31 July 2013 14:40

हैदराबाद। आंध्रप्रदेश से अलग कर तेलंगाना बनाए जाने के कांग्रेस और संप्रग के फैसले के खिलाफ रायलसीमा और तटीय आंध्रप्रदेश के क्षेत्रों में आहूत बंद से आम जनजीवन प्रभावित हुआ।



इस दौरान शैक्षिक संस्थान और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहे और सरकारी, आंध्रप्रदेश सड़क परिवहन निगम :एपीएसआरटीसी: की सेवाएं रायलसीमा और तटीय आंध्रप्रदेश के कडप्पा, चित्तूरÞ, विशाखापत्तनम और कृष्णा जैसे जिलों में रद्द रही।
एकीकृत आंध्रप्रदेश का समर्थन कर रहे विभिन्न संगठनों ने आंध्रप्रदेश को दो हिस्सों में बांटने के कांग्रेस के फैसले के खिलाफ क्षेत्र में बंद का आह्वान किया।
एकीकृत आंध्रप्रदेश के समर्थकों की जिलों में रैली और अन्य तरीके से विरोध प्रदर्शन का आयोजन करने की योजना है। प्रदर्शनकारी सड़क पर उतर आए हैं और विभिन्न जगहों पर आरटीसी की बसों को रोक दिया।
बहरहाल, सुबह के कुछ घंटे के दौरान दोनों क्षेत्रों से हिंसा की किसी घटना की जानकारी नहीं मिली है, हालांकि दोनों क्षेत्रों में निराशा का माहौल है। 
विभिन्न संगठनों के बंद के मद्देनजर ऐहतियात बरतते हए एपीएसआरटीसी ने कुछ स्थानों पर अपनी सेवाएं रोक दी है। 
कानून और व्यवस्था बनाए रखने और पंचायत चुनावों को ध्यान में रखते हुए रायलसीमा और तटीय आंध्रप्रदेश के जिलों में राज्य पुलिस के अलावा केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की गयी है।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि आंध्रप्रदेश के विभिन्न जिलों में ग्राम पंचायत चुनावों का तीसरा और अंतिम चरण सुबह सात बजे शुरू हुआ और छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्वक चल रहा था।

 

पृथक तेलंगाना राज्य : कांग्रेस विधायक ने दिया इस्तीफा

विशाखापटनम (आंध्र प्रदेश)। कांग्रेस के पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की सिफारिश करने के फैसले के विरोध में जिले की पेंडुर्थी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के प्रतिनिधि ,विधायक पी रमेश बाबू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है ।
बाबू ने यहां प्रेट्र को बताया कि उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष नादेंदला मनोहर को फैक्स के जरिए कल रात ही भेज दिया था ।
रमेश बाबू ने कहा ,''मैं संयुक्त आंध्र प्रदेश का पक्षधर हूं ।'' उन्होंने कहा कि उन्होंने इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि वह आंध्र प्रदेश का बंटवारा करने के और उसमें से एक पृथक तेलंगाना राज्य का निर्माण किए जाने के पार्टी के फैसले से दुखी हैं ।''
गोैरतलब है कि कांग्रेस ओेैर संप्रग ने कल आम सहमति से तेलंगाना गठन का फैसला किया था, जबकि गैर तेलंगाना क्षेत्र के नेताओं ने इसका मुखर और जबरदस्त विरोध किया ।
कांग्रेस पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारक संस्था कांग्रेस कार्यसमिति ने कल अपनी बेैठक में केंद्र सरकार से यह सिफारिश करने का फैसला किया कि राज्य के कुल 23 जिलों में से 10 जिलों को अलगकर देश के 29 वें राज्य Þ:रिपीट राज्य के 10 जिलों को मिलाकर देश के 29 वें राज्य :Þ पृथक तेलंगाना का गठन किया जाए । इसके अनुसार हैदराबाद अगले दस वर्ष तक इस नए पृथक राज्य और रायल तथा आंध्र क्षेत्रों की संयुक्त राजधानी रहेगा और इस अवधि के दौरान सीमांध्र क्षेत्र में आंध्र के लिए नई राजधानी की पहचान की जाएगी ।

तेलंगाना पर फैसला गैरलोकतांत्रिक और जनविरोधी : वाईएसआर कांग्रेस
विजयवाड़ा। पृथक तेलंगाना राज्य के गठन के कांग्रेस कार्य समिति के फैसले को वाईएसआर कांग्रेस ने 'गैर लोकतांत्रिक और जन विरोधी' करार देते हुए कहा कि वह इसके विरोध में व्यापक आंदोलन छेड़ेगी।
वाईएसआर कांग्रेस के दो पूर्व विधायकों जलील खान और अदुसुमिल्ली जयप्रकाश ने आरोप लगाया कि यह निर्णय 'एक विदेशी का फूट डालो और शासन करो' का षड्यंत्र है।
उन्होंने कहा कि तटीय आंध्रप्रदेश के लोगों ने कांग्रेस का यह 'एकपक्षीय निर्णय' स्वीकार नहीं किया है।
इन विधायकों ने आरोप लगाया कि आंध्रप्रदेश के केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों और मंत्रियों ने अपनी पहचान बेच दी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता इस त्रासदपूर्ण फैसले के लिए जिम्मेदार हैं।
उन्होंने मांग की कि कांग्रेस के प्रतिनिधियों को इस्तीफा दे देना चाहिए अन्यथा जनता उन्हें सबक सिखाएगी।
जलील खान और अदुसुमिल्ली जयप्रकाश ने घोषणा की कि तेलंगाना पर फैसले के विरोध में वाईएसआर कांग्रेस व्यापक जन आंदोलन शुरू करेगी।

तेलंगाना की खबर सुन कर किसान को पड़ा दिल का दौरा, मौत

कडप्पा। कड़प्पा जिले में एक किसान को आज टीवी पर आंध्रप्रदेश के विभाजन की खबर देखने के बाद दिल का दौरा पड़ा और उसकी मौत हो गई।
महबूब बाशा :48 वर्ष: नामक इस किसान के परिजनों ने बताया कि राज्य के विभाजन की खबर टीवी पर देखने के बाद बाशा को दिल का दौरा पड़ा।
अलांकनपल्ली के समीप रायलापानतुला गरी पल्ली में रहने वाले बाशा को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

तेलंगाना फैसले के बाद आंध्रप्रदेश में सुरक्षा बढ़ाई गई
हैदराबाद। आंध्रप्रदेश पुलिस ने आज पृथक तेलंगाना राज्य बनाए जाने के फैसले के संदर्भ में राज्य में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी।
पुलिस ने साथ ही यह भी कहा कि वह खास तौर पर तटीय आंध्र और रायलसीमा क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरी तरह तैयार है और ऐतिहासिक फैसले के बाद किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैंं
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक :कानून व्यवस्था: वी एस के कौमुदी ने आज रात प्रेस ट्रस्ट से कहा 'आंध्र प्रदेश विशेष पुलिस और केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल की इकाइयों सहित सुरक्षा बल राज्य के सभी भागों में पर्याप्त संख्या में तैनात किए गए हैं। जो भी स्थिति होगी, निपटने के लिए पूरी तैयारी है।'

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Welcome

Website counter

Followers

Blog Archive