Twitter

Follow palashbiswaskl on Twitter

Wednesday, September 17, 2014

बोल पहाड़ी हल्ला बोल... गढवाल भवन झंडेवालन - दिल्ली


बोल पहाड़ी हल्ला बोल... गढवाल भवन झंडेवालन - दिल्ली

राजनीतिक दल कोई भी हो यदि वह "गढ़वाल भवन" पर किये हुवे अवैध क़ब्ज़े को छुड़ाने में उत्तराखंडियों की मदद करता है तो यह स्वागत योग्य पहल है... कम से कम ये श्री श्री सतपाल महाराज़ जी, श्री श्री निशंक जी, श्री श्री बहुगुणा जी, श्री श्री हरीश रावत जी और श्री श्री खंडूरी जी से तो बेहतर है जो कि उत्तराखंड समाज के बड़े-बड़े कार्यक्रमों में तो बड़ी शान से शिरकत करते हैं लेकिन इतने बड़े मुद्दे पर साथ आना तो दूर उनके मुँह से 2 शब्द तकनहीं निकल पाते...!

लेकिन हमें यह भी नहीं भूलना चाहिये की पिछले साल 2 अक्टूबर को श्री केज़रीवाल जी भी "जंतर-मंतर" में हो रही हमारी जनसभा में आये थे और दिल्ली की राजगद्दी मिलते ही वो दोबारा कहीं उत्तराखंडियों के साथ खड़े दिखाई नहीं दिये... यहाँ तक कि "नज़फगढ़ की दामिनी" केस में भी उन्होने कोई सहायता या सांत्वना के 2 बोल भी नहीं कहे...; सुना है दिल्ली में चुनाव होने वाले हैं तो कहीं इस बार भी "2 अक्टूबर" के बहाने चुनावी रोटियाँ तो सेंकने की तैयारियां तो नहीं हो रही... इस बात का भी ख्यार रखना होगा हमें...!

मित्रों जैसाकि आप सभी जानते ही हैं कि झंडेवालान गोल चक्कर (वीर चन्द्र सिँह गढ़वाली चौक) के पास हमारा "गढ़वाल भवन" स्थित है जहां हम उत्तराखंडियों के सामाजिक कार्यक्रम / बैठकें / गोष्टियाँ होती ही रहती हैं वहां के अधिकतर हिस्से पर एक देसी ने अवेध रूप से क़ब्ज़ा किया हुवा है... कल भी उससे क़ब्ज़े को छुड़ाने केतु विवाद काफी बढ़ गया था जिसके बाद वहां पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा...; आज भी इसी मुद्दे पर हम सभी पहाड़ी वहां पहुंच रहे हैं तो आप सभी से निवेदन है कि अधिक से अधिक संख्या में आज 5 बजे गढ़वाल भवन अवश्य पहुंचें और इस संदेश को आग कि भांति सभी उत्तराखंडियों तक अवश्य पहुचायें...!

गढ़वाल भवन
वीर चन्द्र सिँह गढ़वाली चौक
झंडेवालान, नई दिल्ली - 110 055
(समीप झंडेवालान मेट्रो स्टेशन)
011-23615182

09811526475
09999338404
09350535391

.
..
...
╚▬▬► ٠•भरत~*~भाई•٠

बोल पहाड़ी हल्ला बोल... गढवाल भवन झंडेवालन - दिल्ली  राजनीतिक दल कोई भी हो यदि वह "गढ़वाल भवन" पर किये हुवे अवैध क़ब्ज़े को छुड़ाने में उत्तराखंडियों की मदद करता है तो यह स्वागत योग्य पहल है... कम से कम ये श्री श्री सतपाल महाराज़ जी, श्री श्री निशंक जी, श्री श्री बहुगुणा जी, श्री श्री हरीश रावत जी और श्री श्री खंडूरी जी से तो बेहतर है जो कि उत्तराखंड समाज के बड़े-बड़े कार्यक्रमों में तो बड़ी शान से शिरकत करते हैं लेकिन इतने बड़े मुद्दे पर साथ आना तो दूर उनके मुँह से 2 शब्द तक नहीं निकल पाते...!  लेकिन हमें यह भी नहीं भूलना चाहिये की पिछले साल 2 अक्टूबर को श्री केज़रीवाल जी भी "जंतर-मंतर" में हो रही हमारी जनसभा में आये थे और दिल्ली की राजगद्दी मिलते ही वो दोबारा कहीं उत्तराखंडियों के साथ खड़े दिखाई नहीं दिये... यहाँ तक कि "नज़फगढ़ की दामिनी" केस में भी उन्होने कोई सहायता या सांत्वना के 2 बोल भी नहीं कहे...; सुना है दिल्ली में चुनाव होने वाले हैं तो कहीं इस बार भी "2 अक्टूबर" के बहाने चुनावी रोटियाँ तो सेंकने की तैयारियां तो नहीं हो रही... इस बात का भी ख्यार रखना होगा हमें...!  मित्रों जैसाकि आप सभी जानते ही हैं कि झंडेवालान गोल चक्कर (वीर चन्द्र सिँह गढ़वाली चौक) के पास हमारा "गढ़वाल भवन" स्थित है जहां हम उत्तराखंडियों के सामाजिक कार्यक्रम / बैठकें / गोष्टियाँ होती ही रहती हैं वहां के अधिकतर हिस्से पर एक देसी ने अवेध रूप से क़ब्ज़ा किया हुवा है... कल भी उससे क़ब्ज़े को छुड़ाने केतु विवाद काफी बढ़ गया था जिसके बाद वहां पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा...; आज भी इसी मुद्दे पर हम सभी पहाड़ी वहां पहुंच रहे हैं तो आप सभी से निवेदन है कि अधिक से अधिक संख्या में आज 5 बजे गढ़वाल भवन अवश्य पहुंचें और इस संदेश को आग कि भांति सभी उत्तराखंडियों तक अवश्य पहुचायें...!  गढ़वाल भवन वीर चन्द्र सिँह गढ़वाली चौक झंडेवालान, नई दिल्ली - 110 055 (समीप झंडेवालान मेट्रो स्टेशन) 011-23615182  09811526475 09999338404 09350535391  . .. ... ╚▬▬► ٠•भरत~*~भाई•٠
UnlikeUnlike ·  · 
  • Kummy Ghildiyal राजनीतिक दल कोई भी हो यदि वह "गढ़वाल भवन" पर किये हुवे अवैध क़ब्ज़े को छुड़ाने में उत्तराखंडियों की मदद करता है तो यह स्वागत योग्य पहल है... एक दम सही बात ....
    9 hrs · Like · 3
  • Mahi Mehta We should not involve politicians in this fight.
    9 hrs · Like · 1
  • Keshav Dobriyal हमें यह भी नहीं भूलना चाहिये की पिछले साल 2 अक्टूबर को श्री केज़रीवाल जी भी "जंतर-मंतर" में हो रही हमारी जनसभा में आये थे और दिल्ली की राजगद्दी मिलते ही वो दोबारा कहीं उत्तराखंडियों के साथ खड़े दिखाई नहीं दिये... यहाँ तक कि "नज़फगढ़ की दामिनी" केस में भी उन्होने कोई सहायता या सांत्वना के 2 बोल भी नहीं कहे...; सुना है दिल्ली में चुनाव होने वाले हैं तो कहीं इस बार भी "2 अक्टूबर" के बहाने चुनावी रोटियाँ तो सेंकने की तैयारियां तो नहीं हो रही... इस बात का भी ख्यार रखना होगा हमें...!
    9 hrs · Like · 2
  • Ravindra Mamgai Go ahead..
    9 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat Mahi Mehta भाईजी, क्यों...?
    9 hrs · Like
  • Sunil Nainwal We Need Solution of this issue... Either Involvment of Politicians or Socialists.we should welcome to all those people who supporting us...
    8 hrs · Like · 2
  • Bharat Rawat सही कहा Sunil Nainwal जी आपने...!
    8 hrs · Like
  • Sunil Nainwal Bilkul rawat ji..Ye Hamare Kuch Purkhon Ka Apne Matlab K Liye Boya Huwa Beej Hai... Jo Ki Ab Ek Gahri Jad Wala Ped Ban Gya Hai.. So Isko Ukhadne K Liye Savi Ka Saath Jaruri Hai....
    8 hrs · Like · 1
  • Mahendra Bisht aam aadmi ko bolo apna topi hatao yahan party waji nahi chalegi
    8 hrs · Like · 1
  • Pardeep Singh Rawat Khuded बीजेपी का नेता आएगा तो ठीक है, कांग्रेस का आएगा तो ठीक है, आप पट्टी का आया तो क्यों आया? 
    इतना क्यों डरते हो भाई
    8 hrs · Like · 1
  • Hayat Negi भाई साब ... ये आम आदमी है जिसका कोई मुकाबला नहीं. .... जबकि आपने जिनके नाम ऊपर लिखे हैं... वो खासमखास आदमी हैं... फ़र्क़ तो होगा ही... (मतलम आम आदमी "इंसान और खास आदमी बेमान") मेरी नजर में. ..... 

    अरे हाँ... ध्यान आया.. जो लोग इन खास लोगो के साथ टेढ़ी कमर करके फोटु खिंचाते रहते है.. इधर उधर छापते रहते हैं.... वो भी कही नजर नहीं आ रहे "अजग्याल"
    8 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat लेकिन हमें यह भी नहीं भूलना चाहिये की पिछले साल 2 अक्टूबर को श्री केज़रीवाल जी भी "जंतर-मंतर" में हो रही हमारी जनसभा में आये थे और दिल्ली की राजगद्दी मिलते ही वो दोबारा कहीं उत्तराखंडियों के साथ खड़े दिखाई नहीं दिये... यहाँ तक कि "नज़फगढ़ की दामिनी" केस में भी उन्होने कोई सहायता या सांत्वना के 2 बोल भी नहीं कहे...; सुना है दिल्ली में चुनाव होने वाले हैं तो कहीं इस बार भी "2 अक्टूबर" के बहाने चुनावी रोटियाँ तो सेंकने की तैयारियां तो नहीं हो रही... इस बात का भी ख्याल रखना होगा हमें...!
    Bharat Rawat's photo.
    8 hrs · Edited · Like · 3
  • Hayat Negi ये भी बात आपकी सही है.
    8 hrs · Like · 1
  • Pahadi Bole To Uttrakhandi क्या करे मुख्यमंत्री का पद तो दिया नहीं...... बेरोज़गार बैठे है...... खली बैठने से क्या फायदा .......कुछ तूफानी करते है ??
    8 hrs · Like · 1
  • Ram Singh Bagiyal nomber sayad naudiyal ji ka ha ye 09999338404
    8 hrs · Like · 1
  • Pardeep Singh Rawat Khuded अभी आरोप प्रत्यरोप लगाने का बक्त नहीं है बस जो समर्थन देता है देने दो, अगले बन्दे को हमरी ताकत का अंदाजा होना चाये, जब हमरी संख्याबल जयादा है तभी कोई नेता अभिनेता समर्थन देने आएगा,
    8 hrs · Like · 3
  • Bharat Rawat Ram Singh Bagiyal Jee Ye No. Mera Hai Sanjay Naudiyal @ 09999663323
    8 hrs · Like · 1
  • Pankaj Singh Rawat AAP ka koi Neta Aaye too bhi Dikkat aur Na Aaye too bhi Dekkat...... ye too koi baat nahi hui ji.
    8 hrs · Like · 2
  • Bharat Rawat Pankaj Singh Rawat राजनीतिक दल कोई भी हो यदि वह "गढ़वाल भवन" पर किये हुवे अवैध क़ब्ज़े को छुड़ाने में उत्तराखंडियों की मदद करता है तो यह स्वागत योग्य पहल है... कम से कम ये श्री श्री सतपाल महाराज़ जी, श्री श्री निशंक जी, श्री श्री बहुगुणा जी, श्री श्री हरीश रावत जी और श्री श्री खंडूरी जी से तो बेहतर है जो कि उत्तराखंड समाज के बड़े-बड़े कार्यक्रमों में तो बड़ी शान से शिरकत करते हैं लेकिन इतने बड़े मुद्दे पर साथ आना तो दूर उनके मुँह से 2 शब्द तक नहीं निकल पाते...!
    8 hrs · Like · 4
  • Pankaj Singh Rawat Sh. Manish Sisodiya ek Ache aadmi hai, mujhe poora viswas hai ki inka aur AAP ka smarthan hamare "Garhwal Bhawan" ko jarur milega.
    8 hrs · Like · 1
  • Keshav Dobriyal भरत भाई जी मुझे लगता है सार्थक मुद्दे को सभी भूल चुके हैं और ये मुद्दा सिर्फ नेताओ वाला हो गया है मेरे भाइयों दूध की धुली हुई न तो कांग्रेस है ना ही बी.जे.पी और न कोई अन्य दल,यदि मुद्दे पर बात करनी है तो बहस सार्थक थी अन्यथा निरर्थक,मैंने भी कहीं पढ़ा है फेस बुक में ही की ये मामला कोर्ट में विचाराधीन है,फिर इसमें नेता क्या करेंगे। यदि कोई रणनीति करनी है तो वो बैठकर होगी इस तरह एक दूसरे पर छीटाकशी से नहीं जहाँ तक मै मानता हूँ की ये मुद्दा ना ही राजनीती का है और न ही राजनीतिज्ञों का। धन्यवाद "मैती"
    7 hrs · Like · 3
  • Bharat Rawat मुद्दा कोर्ट में लंबित है और कोई भी नेता कानूनी रूप से तो कुछ भी नहीं कर सकता ये जगजाहिर है हाँ कुछ और वो बहुत कुछ कर सकता है...!
    7 hrs · Like · 2
  • Bijendar Rawat पर मेरा मानना हैं की हम सब अपने आप को इतना कमज़ोर न बनाये की किसी भी राजनितिक पार्टी के आने से हम अपनी नीतिया बदल ले । जन आन्दोलन से बड़ा कोई आन्दोलन नहीं और जन शक्ति से बड़ी कोई शक्ति नहीं हैं । इस भवन को सार्वजनिक एजेंडा न बना कर सिर्फ पहाडियों के बीच में रह कर ही कोई ठोस नीतिया बन सकती हैं । भवन हमारा हैं तो दुःख भी हमारा हैं । आज पुन अवसर आ गया हैं की उतराखंड आन्दोलन के समय दिल्ली के सभी प्रवासी भाइयो ने जो एकता दिखाई थी उसी तरह फिर दिखाए ।
    7 hrs · Like · 4
  • DrPushkar Mohan Naithani स्नेही डोबरियाल , रावत जी अप्प १००% सही हैं किन्तु बिजेंद्र जी का मत भी समर्थन योग्य है इस पर आपको भी विचार करना चाहिए
    7 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat DrPushkar Mohan Naithani भाईजी, मैं तो कतई इसमें राजनीतिक पार्टियों को मिलने के पक्ष में नहीं हूँ क्योंकि वो तो कुछ भी नहीं कर पायेगी यहाँ तो लड़ाई आर और पार की है...!
    7 hrs · Like · 1
  • Rajendra Prasad Barthwal Hey lodon kay ki karyun u kabja,aru bhawan katu bado ch u.Puri jankaree dyao bhayee.
    7 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat Rajendra Prasad Barthwal जैसाकि आप सभी जानते ही हैं कि झंडेवालान गोल चक्कर (वीर चन्द्र सिँह गढ़वाली चौक) के पास हमारा "गढ़वाल भवन" स्थित है जहां हम उत्तराखंडियों के सामाजिक कार्यक्रम / बैठकें / गोष्टियाँ होती ही रहती हैं वहां के अधिकतर हिस्से पर एक देसी ने अवेध रूप से क़ब्ज़ा किया हुवा है... कल भी उससे क़ब्ज़े को छुड़ाने केतु विवाद काफी बढ़ गया था जिसके बाद वहां पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा...; आज भी इसी मुद्दे पर हम सभी पहाड़ी वहां पहुंच रहे हैं तो आप सभी से निवेदन है कि अधिक से अधिक संख्या में आज 5 बजे गढ़वाल भवन अवश्य पहुंचें और इस संदेश को आग कि भांति सभी उत्तराखंडियों तक अवश्य पहुचायें...!
    6 hrs · Like
  • Suresh Uniyal इन पाखंडी नेताओं को सिर्फ अपनी रोटियां सेकने से मतलब रहता है ये कभी भी हमारे और उत्तराखंड के काम नहीं आ सकते ।
    6 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat Rajendra Prasad Barthwal जी, किसी भी पोस्ट पर कुछ प्रतिक्रिया देने से पूर्व पढ़ने एवं समझने की कोशिश किया कीजिये सभी पोस्टों पर सिर्फ हंसी-थॅटा करने से आपका व्यक्तित्व ही परिभाषित होगा...!
    6 hrs · Like · 1
  • Dayal Negi save Garhwal Bhawan.....
    6 hrs · Like · 1
  • Arvind Råwat मैने prasad barthwal ko block isiliye kiya tha.
    5 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat Arvind Råwat भुल्ला जी, मैं "ब्लॉक" नहीं करता और न ही किसी को "एड" करता हूँ... सिर्फ उसको "मित्र सूची" से निष्काषित कर देता हूँ... वो भी उसकी हरकतें देख कर...!
    5 hrs · Like · 2
  • Arvind Råwat  sahi karte hain aap bhaiya ji  Mai bhi block ni karta hun par jab ati ho jati hai tab karta hunB-)
    5 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat Arvind Råwat भुल्ला जी, 

    Rajendra Prasad Barthwal जी, कभी भी मुद्दा नहीं समझते और हमेशा सिर्फ "थथा" करते हैं तो कुछ ही दिन बाद इन्हें बाहर का रास्ता दिखा ही दूंगा...!
    5 hrs · Like · 1
  • Arvind Råwat Ji bhaiya ji -Mujhe unhone ek din apshabd prayog kiye thei to mujhe unko seedhe block hi karna pada.
    5 hrs · Like · 1
  • Jitender Devliyal कुछ लोग यहाँ भी राजनीती करने में लगे हुए है इन्ही लोगो की बजह से उत्तराखंड बर्बाद है गढ़वाल भवन छुड़ा रहे हो या अपनी राजनीति चमका रहे हो
    4 hrs · Like · 2
  • Manglesh Negi joh apne , desh ka ni huwa , woh uttrakhand ka kiya hoga , like kejriwal
    4 hrs · Like · 1
  • Ashok Kumar Bhatt Ham aap ke sath hai
    4 hrs · Like · 1
  • Jitender Devliyal कोंग्रेस और भाजपा ने उत्तराखंड बेच खाया और मुर्ख पहाड़ी देल्ही में राजनीती का झुनझुना बजा रहा है
    4 hrs · Like · 2
  • 4 hrs · Like · 1
  • Shiv Singh Rawat राजनितिक विचारधारा एक छलावा है, लोकतंत्र में मतदाता प्रधान होता है। मतदाता राजनितिक विचारधारा से बंधित होगा तो लोकतंत्र मजाक बन कर रह जायेगा। दिल्ली में उत्तराखंडियों की राजनीती में भागीदारी नगण्य इसलिए है कि हम विचारधाराओं में बंटे हुए हैं। संख्या को तक्सीम किया जाता रहेगा तो गण (समूह) की धारणा समाप्त हो जाएगी।
    4 hrs · Like · 2
  • Bharat Rawat मित्रों अधिक से अधिक इस पोस्ट को शेयर करें
    3 hrs · Like
  • Devender Bisht उत्तराखंड के सिर्फ एक राजनेता मोहन सिंह बिष्ट जो दिल्ली से MLA है और श्रीमान मनीष सिसोदिया जी AAP पार्टी के नेता अभी तक गढ़वाल भवन पहुचे और उन्होंने ही हमारी सुध ली है , उत्तराखंड राज्य के कोई भी सांसद अभी तक हमारे बीच नहीं पहुचे है , यह बड़े दुर्भाग्य क...See More
    3 hrs · Like · 2
  • Jaggu Rajput It is good but people have old thinking ..rajniti roti ...they dnt even see the leader vision....
    2 hrs · Like · 1
  • Bharat Rawat Jaggu Rajput Jee, Kindly Come On Saturday So We Should Take Some Action...!
    2 hrs · Like

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Welcome

Website counter

Followers

Blog Archive