Twitter

Follow palashbiswaskl on Twitter

Friday, June 28, 2013

उत्तराखंड में अब स्थानीय लोगों को राहत पर जोर

उत्तराखंड में अब स्थानीय लोगों को राहत पर जोर

नई दिल्ली : उत्तराखंड में फंसे हुए लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए चल रहा बचाव कार्य लगभग पूरा होने वाला है। अब सरकार ने भयंकर बारिश और विनाशकारी बाढ से प्रभावित स्थानीय लोगों के राहत और पुनर्वास पर ध्यान केन्द्रित करने का फैसला किया है। 

केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि उत्तराखंड में आपदा से प्रभावित जनता के राहत और पुनर्वास के लिए हम कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेंगे। सिंह ने कहा कि अधिकारी आवश्यक वस्तुओं की नियमित आपूर्ति सुनिश्चित करेंगे। सुदूरवर्ती गांवों से संचार संपर्क स्थापित किया जाएगा और प्रभावित लोगों का पुनर्वास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की तलाश भी जारी रहेगी, जो अब तक लापता हैं। 

उत्तराखंड में 16 जून को भयंकर बारिश और बाढ से चार जिलों उत्तरकाशी, चमोली, रूद्रप्रयाग और गढवाल के कम से कम 16 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के मुताबिक बारिश और बाढ में फंसे लगभग 350 लोगों का अभी भी कोई अता पता नहीं है। इस बीच गृह मंत्री सुशील कुमार शिन्दे राहत और बचाव अभियान का जायजा लेने के लिए कल उत्तराखंड जा रहे हैं। शिन्दे मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, राज्य सरकार, थलसेना, वायुसेना, भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), राष्ट्रीय आपदा रेस्पांस बल (एनडीआरएफ) के वरिष्ठ अधिकारियों तथा राहत एवं बचाव कार्यों में लगे अन्य लोगों के साथ बैठक करेंगे। उत्तराखंड में बाढ़ से तबाही मचने के बाद से अब तक यह गृह मंत्री का राज्य का दूसरा दौरा है। 

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Welcome

Website counter

Followers

Blog Archive