Twitter

Follow palashbiswaskl on Twitter

Thursday, May 22, 2014

'इंकलाब एक संघर्ष' नाम और 23 हजार लाइक देख कर ही दिमाग ठनक गया था पर फिर सोचा चलो पेज तो देख ही लेते हैं। इन्‍होने आशंका को सही साबित कर दिया। अब संघी भी शहीदों के नामों के साथ साथ इंकलाब नाम का भी अपहरण करना चाहते हैं।


लेओ भाई, अब संघियों, धार्मिक कट्टरपंथियों की तलवार भी विचारों की सान पर तेज हो रही है। पर थोड़ी गड़बड़ हो गयी, इन्‍हें विचार वगैरह की बातें हजम नहीं होती, इसलिए सचमुच की तलवार पत्‍थर की सान पर तेज कर रहे हैं।
'इंकलाब एक संघर्ष' नाम और 23 हजार लाइक देख कर ही दिमाग ठनक गया था पर फिर सोचा चलो पेज तो देख ही लेते हैं। इन्‍होने आशंका को सही साबित कर दिया। अब संघी भी शहीदों के नामों के साथ साथ इंकलाब नाम का भी अपहरण करना चाहते हैं।

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Welcome

Website counter

Followers

Blog Archive