Twitter

Follow palashbiswaskl on Twitter

Saturday, May 24, 2014

पिता इल्तुतमिश के तरह/गर हर पिता सोचे कि मेरी बेटी /रजिया मेरा बेटा है॥तो यकीनन /यकीन के साथ कह सकता हूँ/ हमारी बेटियाँ चूल्हे के पास रहने /और दरवाजे के पीछे सुबकने की /वजह नही ढुढँगी ॥

पिता इल्तुतमिश के तरह/गर हर पिता सोचे कि मेरी बेटी /रजिया मेरा बेटा है॥तो यकीनन /यकीन के साथ कह सकता हूँ/ हमारी बेटियाँ चूल्हे के पास रहने /और दरवाजे के पीछे सुबकने की /वजह नही ढुढँगी ॥
Unlike ·  · 

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Welcome

Website counter

Followers

Blog Archive